जो पुरुष यह चीज देख लेता है तुरंत उसकी मृत्यु हो जाती है | औरत की एक चीज कभी ना देखें

Please follow and like us:
0
20
Pin Share20

Chanakya niti औरत की एक चीज कभी ना देखें जो पुरुष यह चीज देख लेता है तो तुरंत उसकी मृत्यु हो जाती है

Chanakya niti औरत की एक चीज कभी ना देखें जो पुरुष यह चीज देख लेता है तो तुरंत उसकी मृत्यु हो जाती है

औरत की एक चीज कभी ना देखें
औरत की एक चीज कभी ना देखें

दोस्‍तों चाणक्‍य नीति एक ऐसा ग्रंथ है जिसमे जीवन को सुखमय बनाने के कई रहस्‍य दिये गये हैं। इस ग्रंथ में लिखी हर एक बात का सीधा संबंध मानव समाज को जीवन के हर एक व्‍यावहारिक ज्ञान को देने से है।

विष्‍णुगुप्‍त चाणक्‍य ऐसे महान व्‍यक्ति थे जिन्‍होंने अपनी नीतियों के फलस्‍वरूप धनानंद का अंत किया और अपने शिष्‍य चंद्रगुप्‍त मौर्य को सिंहासन पर आसीन किया। तो आज आप चाणक्‍य की उन महत्‍वपूर्ण नीतियों के बारे में जानने जा रहे हैं जो आपको जीवन के किसी मोड़ पर काम आ सकती हैं।

दोस्‍तो अगर आप अपने जीवन में खुशहाली चाहते हैं तो जीवन में कभी भी औरत की यह चीज मत देखना। यह आप पर न जाने कौनसी विपदा ले आ सकती है। शास्‍त्रों में ऐसे लोगों को महापापी माना जाता है।

(1). जो पुरुष किसी माता को अपने बच्‍चे को स्‍तनपान कराते हुए देख लेता है और अपने मन में गलत विचार लाता है तो वह एक महापापी माना जाता है। महिलाओं के प्रति गलत भावना लाने वाला व्‍यक्ति कभी ना कभी अपनी मृत्‍यु का कारण बन जाता है।

(2). किसी भी व्यक्ति को छुपकर किसी भी महिला को नहाते हुए नहीं देखना चाहिये। ऐसा करना घोर पाप माना जाता है। चाणक्‍य नीति के अनुसार छुप कर किसी महिला को स्‍नान करते हुए देखना एक महापाप माना जाता है। अत: आप ऐसी गलती कभी ना करें अन्‍यथा आप अपनी मृत्‍यु का कारण भी बन सकते हैं।

(3). किसी भी पुरूष को गैर महिला के स्‍तनों की ओर कभी भी नहीं देखना चाहिये। क्‍योंकि पुरूष की उत्‍पत्ति और पालन-पोषण का प्रारंभिक स्‍तर भी यहीं से शुरू होता है। ऐसा करने से आप घोर पाप के भागी बन जाते हैं। शास्‍त्रों के अनुसार ऐसा व्‍यक्ति दोबारा कभी भी मनुष्‍य का जन्‍म नहीं लेता है।


आखिर क्‍यों किन्नरों का अंतिम संस्कार रात में ही होता है?

किन्नरों का अंतिम संस्कार
किन्नरों का अंतिम संस्कार

दोस्‍तों क्‍या आप यह बात जानते हैं कि किन्‍नरों का अंतिम संस्‍कार रात में ही क्‍यों किया जाता है? दोस्‍तों अगर आप एक हिंदू हैं तो यह तो आप जानते ही होंगे कि हिन्‍दू धर्म में रात में शव का अंतिम संस्‍कार नहीं किया जाता है। पर क्‍या आप इस बात का कारण जानते हैं? दरअसल ऐसा करने के पीछे कोई वैज्ञानिक कारण नहीं है बल्कि सामाजिक कारण होता है।

अगर किन्‍नरों के विश्‍वास की बात करें तो उनके मुताबिक अगर कोई आम आदमी किन्नरों के जलते हुए शवों को देख ले तो वो भी अगले जन्‍म में किन्‍नर ही बन जाता है। समुदाय के विभिन्‍न लोग किन्‍नरों का जलता हुआ शव न देखें इसी कारण से इनका अंतिम संस्‍कार रात्रि को ही किया जाता है। इनकी शव यात्रा भी रात्रि के समय ही निकाली जाती है।

इसके अलावा शव यात्रा निकालने से पहले ये किन्‍नर, शव को जूते व चप्‍पलों से पीटते भी हैं। यह सुनने में बड़ा ही अजीब लगता है परंतु किन्‍नरों के समुदाय में ऐसी अनोखी चीजें होती हैं।

यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो तो इस पोस्‍ट को अपने मित्रो के साथ अवश्‍य शेयर करें और जरूरी सुझावों को नीचे कॉमेण्‍ट सेक्‍शन में अवश्‍य लिखें।

Please follow and like us:
0
20
Pin Share20

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *