संपूर्ण आर्युवेदिक कफ सिरप खाँसी के लिए घर पर ही बनायें

संपूर्ण आर्युवेदिक कफ सिरप ( Cough Syrup ) खाँसी के लिए घर पर ही बनायें

संपूर्ण आर्युवेदिक कफ सिरप

सर्दी और गर्मी के बदलते मौसम में जुकाम खांसी होना कोई बडी बात नहीं है। गले में कफ, दर्द, खराश, घरघराहट, सांस लेने में तकलीफ होना, सिर दर्द, बदन दर्द या फ्लू भी बहुत कॉमन हो गया है। आम तौर पर इन परेशानियों को दूर करने के लिए शहद युक्‍त कफ-सिरप इस्‍तेमाल करने की सलाह दी जाती है। यदि आप भी संपूर्ण आर्युवेदिक कफ सिरप ( Cough Syrup ) खाँसी के लिए घर पर बनाना चाहते हैं तो आप इस लेख को अंत तक पढते जाइये।

आप चाहें तो घर पर ही शहद, साइट्रस फ्रूट्स, जडी-बूटियों, मसालों से कफ सीरप बना सकते हैं। इनमें मौजूद माइक्रोबियल, एंटी-ऑक्‍सीडेण्‍ट्स और पोषक तत्‍व बैक्‍टीरिया से लडते हैं। ये होममेड सिरप सर्दी-जुकाम के प्राकृतिक उपचार में सहायक हो सकते हैं।

लेकिन इस्‍तेमाल करने से पहले चिकित्‍सक से परामर्श लेना सर्वथा उचित रहता है (यदि आप डायबिटिस से जूझ रहे हैं)

सामग्री

आप अपनी पसंद के अनुसार नीचे दिये गये कॉम्‍बीनेशन में से कोई भी ट्राई कर सकते हैं।

1-2 नींबू, 1 इंच अदरक और शहद

1-2 नींबू, 8-10 पुदीना के पत्‍ते और शहद

1-2 नींबू, 8-10 रोजमेरी के पत्‍ते और शहद

1-2 नींबू, 1 छोटा चम्‍मच दालचीनी पाउडर और शहद

1-2 नींबू, ¼ चम्‍मच केयन मिर्च पाउडर, 1 इंच कच्‍ची हल्‍दी, ½ इंच अदरक, और शहद

1 संतरा, 4-5 लौंग और शहद

1 संतरा, 1 पिसी बडी इलाइची और शहद

2 चम्‍मच एप्‍पल विनेगर, ¼ चम्‍मच केयन मिर्च पाउडर, 1 इंच अदरक और शहद

2 इंच के छोटे-छोटे टुकडे अनानास, ¼ छोटा चम्‍मच केयन मिर्च पाउडर, 1 इंच अदरक और शहद

आप को ऊपर दिये गये फ्लेवर्स में से जो भी पसंद आये उसे चुन लीजिये और नीचे दी गई विधि के अनुसार कफ सिरप तैयार कर लें।

घरेलू कफ सिरप बनाने की विधि: ऐसे बनाए

किसी भी आकार का गिलास जार लें। उसमें अपनी पसंद के हिसाब से कॉम्बिनेशन की चीजों को काट लें, जैसे कि नींबू या संतरों की गोल फाके काटें, अदरक को कद्दूकस करे और डालें, पुदीने के पत्‍ते तोडकर डालें। इन कटी चीजों को जार में आधा भर लें।

जार में इतना शहद डालें कि सभी चीजें अच्‍छी तरह डूब जायें। चम्‍मच से धीरे-धीरे अच्‍छी तरह हिलायें ताकि नींबू या संतरों का रस शहद में मिल जाए। जार का ढक्‍कन बन्‍द करके रख दें। 3-4 घण्‍टे में सिरप बनकर तैयार हो जाएगा।

अगर सिरप पतला लगे, तो उसमें थोडा शहद मिला सकते हैं। जरूरत पड़ने पर सिरप में नींबू या संतरों की फाकें भी मिला सकते हैं। यह सिरप कम से कम एक महीने तक चल जाएगा।

कितनी मात्रा में कफ सिरप का सेवन करें

तैयार सिरप को दिन में 1-2 चम्‍मच ले सकते हैं। बच्‍चों, बुजुर्गों और डायबिटिस के रोगी उचित चिकित्‍सीय परामर्श के अनुसार ही लें।

एक बात का विशेष ध्‍यान दें कि आप जब भी सिरप का इस्तेमाल करें तो उसे यूज करने से पहले अच्‍छी तरह हिला लें।

Source- here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*