क्‍या आप जानते हैं ये सिकंदर से जुड़े 21+ रहस्‍य || Did you know these Alexander 21 facts?

Please follow and like us:
0
20
Pin Share20

क्‍या आप जानते हैं ये सिकंदर से जुड़े 21+ रहस्‍य || Did you know these Alexander 21 facts?

क्‍या आप जानते हैं ये सिकंदर से जुड़े 21+ रहस्‍य || Did you know these Alexander 21 facts?

सिकंदर से जुड़े 21+ रहस्‍य


इतिहास का वह इकलौता ऐसा इंसान था जिसे विश्‍व विजेता के रूप में सारा संसार याद करता है। अलेक्‍जेण्‍डर द ग्रेट या सिकंदर महान, पहला ऐसा इंसान था जिसने पूरी दुनिया को जीतने का स्‍वप्‍न देखा था। सिकंदर महान ने अपने पूरे जीवन काल में कभी भी कोई युद्ध नहीं हारा था। दोस्‍तों इस ब्‍लॉग पोस्‍ट में हम आपको सिकंदर से जुड़े 21+ फैक्‍ट्स और रहस्‍य बतायेंगे जो शायद आपको पता न हों। 

(1). एलेक्‍जेण्‍डर द ग्रेट को इतिहास के सौ सबसे प्रभावशाली लोगों में गिना जाता है। इसे अलेक्जेण्‍डर तृतीय या अलेक्‍जेण्‍डर मेसेडोनियन के नाम से भी जाना जाता है। सिकंदर, मेसेडोनिया का शासक था। मेसेडोनिया प्राचीन ग्रीस का एक साम्राज्‍य था।

(2). एलेक्‍सेण्‍डर ग्रीक भाषा के दो शब्‍दों से मिलकर बना है। पहला है Alexein जिसका अर्थ है To protect  और दूसरा है Andros जिसका अर्थ है man । तो Alexander का मतलब हुआ Protector of Mankind. मानवता का रखवाला इसका मतलब हुआ।

(3). यह कहा जाता है कि जिस दिन सिकंदर का जन्‍म हुआ उसी दिन ग्रीस के एक मंदिर Temple of Artemis को जला दिया गया था। यह किसी ने क्‍यों किया इस बारे में ज्‍यादा जानकारी उपलब्‍ध ही नहीं है। यह मंदिर दुनिया के सात अजूबों में शामिल था।


(4). सिकंदर अपने समय में एक महान फिलोसोफर अरस्‍तू के शिष्‍य भी थे। जब सिकंदर 13 वर्ष का हुआ तो उसके पिता फिलिप ने सिकंदर की शिक्षा के लिये अरस्‍तू Aristotle को चुना था। चूँकि अरस्‍तू ने सिकंदर को शिक्षा दी थी इसीलिये फिलिप ने अरस्‍तू के शहर को फिर से बनवा दिया जिसे कुछ समय पहले फिलिप ने ही तबाह कर दिया था। कहते हैं कि अरस्‍तू ने सिकंदर को तीन वर्ष तक पढ़ाया और इसके कुछ समय बाद ही सिकंदर के पिता फिलिप की हत्‍या हो गयी।  इसके बाद सिकंदर मेसेडोनिया के तख्‍त पर बैठ गया। अरस्‍तू ने सिकंदर को Philosophy, morals, religion and logic की शिक्षा दी थी।

(5). ऐलेक्‍जेण्‍डर को Heterochromia Iridium था जिसकी वजह से उसकी दोनों आंखों की पुतलियों का रंग अलग अलग था।

(6). कुरान में भी एक बादशाह की कहानी बतायी गयी है और बहुत से विद्वानों की माने तो यह कहानी सिकंदर महान की ही है।

(7). सिकंदर अपनी पहली जीत से लेकर अपनी मृत्‍यु तक कोई भी युद्ध नहीं हारा और अपराजित रहा। उसकी रणनीति कौशल और सैन्‍य कौशल से संबंधित ज्ञान आजकल की कई आधुनिक मिलिट्री भी फॉलो करती हैं।


(8). सिकंदर अपनी मृत्‍यु तक लगभग उन सभी आधे राज्‍यों को जीत चुका था जिसकी जानकारी प्राचीन ग्रीस के लोगों को थी। इसके बावजूद भी वह पृथ्‍वी के मात्र पांच प्रतिशत हिस्‍से को ही जीत पाया था।

(9). ऐलेक्‍जेण्‍डर की सेक्‍सुएलिटी को लेकर लोगों में कण्‍ट्रोवर्सी भी है। कुछ लोगों के अनुसार सिकंदर बाइसेक्‍सुअल था। रोमन लेखक Athenaeus ने इस बारे में लिखा था।

(10). सिकंदर की तीन बीवियां थीं Roxana Barsine and Parysatis.

(11). सिकंदर जब अपनी पहली पत्‍नी रॉक्सेन से पहली बार मिला तो वह love at first sight था।


(12). यह कहा जाता है कि सिकंदर के दो बेटे थे हिराकिलीज और एलेक्‍जेण्‍डर4 । कहा जाता है कि सिकंदर की मृत्‍यु के बाद दोनों की हत्‍या कर दी गयी थी।

(13). पर्शिया या फारस को जंग में जीतने के बाद उसे लगा कि यदि वह फारस के लोगों की भांति दिखेगा तो वहां उसे शासन करने में आसानी होगी और वह वहां के लोगों को आसानी से घुल मिल पायेगा। इसी कारण उसने फारस के पहनावे को अपना लिया। उसने पर्शिया के कई लोगों को अपनी सेना में भर्ती करना शुरू कर दिया और वहां रहते हुए उसने फारस के कई रीति-रिवाजों को अपना लिया।

(14). सिकंदर को सबसे काँटे की टक्‍कर भारत के राजा पोरस या पुरू ने दी थी। ग्रीक इतिहासकारों ने राजा पुरु को पोरस नाम दिया है। सिकंदर के विजय रथ को रोकने में राजा पोरस ने सबसे अहम भूमिका निभाई थी। राजा पोरस ने सिकंदर की सेना के भीतर खौफ पैदा कर‍ दिया था और उसे भारत से लौटने पर मजबूर कर दिया था।


(15). सिकंदर के पास Bucephalus नाम का घोड़ा था जिसे वो बेहद पसंद करता था। जब सिकंदर पंजाब आया तो वहां पर उसके घोड़े की मौत हो गयी। इसके बाद पंजाब में झेलम नदी के किनारे सिकंदर ने दो शहर बसाए थे जिनमें से एक का नाम Bucephala रखा था जो कि उसके प्रिय घोड़े का नाम था।

(16). दुनिया के किसी भी साम्राज्‍य को जीतने के बाद सिकंदर वहां एक नया शहर बसा कर अपनी जीत का जश्‍न मनाता था। दुनिया भर के लगभग 70 शहरों को उसने अपने नाम पर Alexandria नाम दिया था।

(17). ग्रीक नोवलिस्‍ट प्लूटार्क अपने नोवल उपन्‍यास Lives of the noble Grecians and Romans में लिखते हैं कि सिकंदर के शरीर से एक विशेष प्रकार की सुगंध आती थी और यह सुगंध इतनी भीनी होती थी कि यह उसके कपड़ों को भी सुगंधित रखती थी।

(18). एलेक्‍जेण्‍डर ग्रीक कवि होमर से बहुत प्रेरित था। वह होमर की प्रसिद्ध पुस्‍तक The Iliad of Homer को बड़ी ही उत्‍सुकता से पढ़ता था। वह इसे हर रोज पढ़ता था चाहे वह भले ही युद्ध के समय के बाद ही क्‍यों न हो।


(19). 323 ई.पू. मे बेबीलोन शहर में सिकंदर की मृत्‍यु हो गयी। यह वही शहर था जिसे सिकंदर अपनी राजधानी बनाना चाहता था।

(20). सिकंदर की मृत्‍यु इस संसार के सबसे बड़े रहस्यों में से एक है। उसने महज 32 साल की उम्र में इस संसार से विदा ले ली। उसकी मृत्‍यु कैसे हुई इस बारे में अलग अलग किंवदंतियां हैं। कुछ इतिहासकारों ने बताया कि उसे जहर देकर मारा गया था। वहीं कुछ इतिहासकार यह भी दावा करते हैं कि सिकंदर की मृत्‍यु मलेरिया से हुई थी।

(21). सिकंदर की मृत्‍यु के पश्‍चात उसके शरीर को कहां दफनाया जाये इस बात को लेकर काफी विवाद हुआ। अंत में सिकंदर को मिस्र के अलेक्‍जेण्ड्रिया शहर मे दफनाया गया। जाहिर है कि यह शहर भी सिकंदर ने ही बसाया था और अपने नाम पर ही इसे यह नाम दिया था।

(22). सिकंदर के शव को एक पत्‍थर के ताबूत में रखा गया और उस ताबूत को शहद से भर दिया गया था। ऐसा शव को सड़ने से बचाने के लिये किया था। इसके बाद ही शव को इजिप्‍ट ले जाया जा सका।

(23). सिकंदर के मरने के 600 साल बाद तक वह कब्र दुनिया भर के लोगों के लिये एक तीर्थ स्‍थान रही। दुनिया के दूर दूर के कोने से लोग उसके मकबरे को देखने के लिये आते थे। पर बाद में यह कब्र गायब हो गयी।


(24). मरने के बाद भी सिकंदर, रोम के लोगो मे प्रशंसा पाने वाला सबसे प्रभावशाली व्यक्ति था। शायद यही कारण था कि जूलियस सीजर और मार्क एंथनी जैसे लोगों ने भी सिकंदर की कब्र पर विजिट किया।

तो दोस्‍तों यदि आपको यही जानकारी पसंद आयी हो तो इसे अपने तक ही सीमित न रखें और अपने मित्रों को भी शेयर अवश्‍य करें। यदि आपका कोई सुझाव हो तो नीचे कॉमेण्‍ट सेक्शन में अवश्‍य लिखें। धन्‍यवाद!

Please follow and like us:
0
20
Pin Share20

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *