14 Reasons Nourishvitals Flax Seeds or Alsi ke Beej Will Change Your Life! [Review Guide]

Please follow and like us:
0
20
Pin Share20

Nourishvitals Quality Roasted Flax Seeds or Alsi ke Beej Review And Complete Guide

Alsi ke Beej

Today we will talk about Nourishvitals Superior Quality Roasted Alsi ke Beej and we will review it also. We call it alsi in Hindi. However, there are other names also like Tissi, Virai, and Linseeds.

What are the benefits of flax seeds? Should we add it to our diet?  How do flax seeds help in muscle building and hormonal imbalance? How does flax seed help in fat loss and weight loss?

Does Flax seed help in our normal lifestyle? How much quantity of Alsi ke Beej should we add to our diet and daily routine? We are going to get answers to all these questions today.

Alsi ke Beej is used in India in a great quantity. You might not have noticed it but in reality, you can find flax seed in almost every product in the market.

 

 

For example, bread, cookies, biscuits, and bars also have flax seeds in them. This is also the reason why different well-known brands write omega 3 enriched food, heart-healthy food, the best food for the skin. And you must have noticed this fact earlier.

However, these brands add flax seeds in a very less quantity and then tell you the terms and health benefits of flax seeds. Well, all these brands do this for their product marketing. And how does it help brands in generating revenue?

Because people just read the label of the product and they see that it is healthy for heart etc. They however are not familiar with other harmful elements of the products. A customer just thinks that this brand is shown in TV ads so it is a genuine product.

In this article, we will discuss how we can add Alsi ke Beej to our diet and get all the health benefits. We will use flax seeds in a healthy style and avoid the traditional unhealthy Indian way.


What is Flax Seed or Alsi ke Beej


Flaxseed is plant-based food. It is a hundred percent vegetarian food. Flaxseed is high in omega 3 by nature. Flaxseed is an alternative source of omega 3 for vegetarian people as they can not take fish and other stuff.

Alsi ke Beej is large in size as compared to chia seed. It tastes great. In Indian homes and culture, flaxseed is used in a wide range. We call it alsi ka beej and this is used in laddoo and other winter homemade products.


Ayurvedic properties of FlaxSeeds / Alsi ke Beej


Quality- heavy, sticky, and slimy

Nature- warm

Taste- Katu, pungent after digestion

Dosha- Balance vaat, increase vaat and neutralize pitta


Flax Seeds and Thyroids


Can people suffering from thyroids take flax seeds in their diet? Flax seeds have plant compounds called goitrogens.

Why it should be avoided and how to take it. Two major things make flax seeds bad for thyroids patients.

  • It contains phytic acid which has an anti-nutrient in the outer layer and restricts the absorption of nutrients like iron, zinc, calcium, iodine, copper, etc.
  • It contains cyanogenic glycosides which bind with sulfur compounds in the body to form thiocyanates which may affect the functioning of the thyroid gland.

Solution-

Thyroid people should never take the raw form of flaxseed. Always roast them before consuming them. Phytic acid is heat sensitive and its effect is neutralized in the roasting process.

Always keep in mind that thyroid people should not consume flaxseed in large amounts. You can consume it in a small amount prescribed by your dietician and doctors.

Flax seeds and Hormonal Imbalance

For hormonal balance, consume it in the first phase of the menstrual cycle follicular phase (seed cycle).


Nourishvitals Superior Quality Roasted Flax Seeds


FlaxSeeds are considered one of the most powerful plant foods on the planet. Rich in heart-loving omega-3 essential fatty acids, lignans, and both soluble and insoluble fiber, flaxseed bestows health benefits like no other.

Keep flaxseed on hand to transform shakes, salads, baked goods, yogurt, oatmeal, and more with its delightful nutty taste and nutrient-packed punch.

 

Alsi ke Beej

Buy At Amazon

Features:

  • Flax Seeds contain a high amount of omega-3 fatty acids
  • Non-Fried, Free from Trans Fat, Does not Contain Any Added Salt, Sugar, Flavors, or Preservatives.
  • Blends seamlessly in cereals, desserts, smoothies, and more.
  • High in Fiber, Antioxidants, Omega Fats, and loaded with Protein.
  • NourishVitals source the freshest and highest quality superfoods.

Why Flaxseed is important for your body? Benefits of Flex seeds


There are some flax seeds use that are beneficial for a healthy life.

Alsi ke Beej

(1). Rich Source of Fibre

Flaxseed is high in fiber content. 60 to 80% is soluble fibre content and 20-40% is insoluble fibre. High fiber means no problem of constipation in the body.

It helps food digest properly. Digestion is the key point for muscle building, weight loss, and fat loss programs.

Fibre keeps your stomach full during workout and prevents hunger at that time. And this thing helps in preventing overeating and starving. This makes you use flax seeds for weight loss purposes.

(2). Fibre also helps in

  • Support good gut bacteria
  • Surpasses hunger
  • Laxative property (Gets sticky and take gel form)
  • Prevent Constipation and improves digestion
  • Reduces blood sugar
  • Helps in weight loss

(3). Flaxseed Vitamins Rich Food

Flaxseed is a boon to people who suffer from blood pressure and Kidney health issues. Flax seeds are high in vitamins (vitamin B1 Thiamine) and minerals ( copper, magnesium, phosphorus, calcium, iron, antioxidant fluoric acids, p-courmoric acids, phytosterols, lignans, etc ) also. 

 

 

(4). Good Source of Flaxseed Protein

Flax seeds are a good source of quality protein ( flaxseed protein ) and therefore have high protein. It has amino acids like Glutamine and Arginine. These two are good for your heart health and good immunity system.


(5). Boon For Asthma and Arthritis

Flax seeds help in reducing the symptoms of asthma and arthritis. It helps to get you healthy bones.

(6). Helps In Post Pregnency

It also eases out the symptoms of menopause. If consumed post pregnancy then it increases the breast milk. (mixture of methi seeds, flax seeds, and cumin seeds powder)

(7). Flax seed has some cancer-fighting properties also.


(8). No Added Sugar : Good for Diabetic People

Flax seed has zero sugar. It has no sugar at all so there is no risk of diabetes. Diabetics people can take it without any hassle. It will not give rise to an insulin spike.

Medicine in diabetes is a temporary solution but workouts and proper food are the permanent solutions.

 

 

(9). Rich Source of Lignans

Flax seeds are a rich source of lignans. Lignin is an antioxidant and phytoestrogen which is similar to the female hormone estrogen.

If females eat Alsi ke Beej in the first half of their menstrual cycle then flaxseed plays an important role in that case. Flaxseed controls the estrogen level in females.

If there is a deficit then it will boost it and if there is excessive estrogen then it will reduce it. 

Yes, Flaxseed is very little expensive but it is a great solution to health benefits.


(10). Flaxseed Oil Omega 3 6 9 Enriched Source

Alsi ke Beej

Flaxseed Oil For Skin Online at Amazon

Flaxseed is enriched with plant-based omega 3 fat that is essential for a healthy heart and brain functioning (nervous system).

Apart from this, flaxseed is also good for healthy skin ( flax seeds for skin ) and flashy and healthy hair. Even you can use flaxseed oil for hair.

(11). Good for Controlling Bad Cholesterol

Flax seeds consist of ALA (alpha-linolenic acids) which is responsible for reducing inflammation and bad cholesterol.


(12). Secures Heart From Any Stroke

If you take a fish oil capsule, you get 1gm of omega 3 but if you add one spoon of grounded flax seeds then you get 1.5 gms of omega 3 naturally.

And this is why you don’t have to invest in any omega 3 supplements as you have a natural food that is far superior to the supplements.

We already know that omega 3 reduces bad cholesterol and increases good cholesterol. So adding flax seeds to your diet can protect your heart from upcoming health hazards like stroke and other things.

(13). Antioxidant properties

Apart from this, flax seed also has antioxidant and anti-inflammatory properties. Flaxseed is a medicine for all persons who are suffering from heart diseases.

(14). One or two tablespoons full of flaxseed will do the job and you will not require any medicine to keep your heart healthy in the future.


Healthy LifeStyle is the Key After All!


However, we are not saying that you don’t have to take medicine prescribed by the doctors. You have to take medicines only when there is a critical emergency and this is the only time when doctors prescribe other allopathic medicines.

Medicines work only sometimes and food is a lifelong solution. When you stop taking medicines, you can get again serious conditions of heart health.

So it is better to avoid any further complexities and start adding a natural food supplement for a healthy heart.

So, all in all, we can say that medicines are a temporary relief, not the permanent one. So what is the permanent solution?

 

 

You will have to change your lifestyle and eating habits. Just compare your body to a car. If you don’t give it a timely service, and no change of oil then it will get problems and the same thing happens with the human body.

You are using your body but you are not actually caring much about it and it really hurts in the long run.

Nowadays people of age 40 say that they have become old. However, they don’t blame their lifestyles and food habits. You are always young as long as you are healthy inside.


How should you take flax seed in your diet?

You can add flax seeds in oatmeal, smoothies, banana shakes, protein shakes, serials, protein bars, cookies, curd, whey, milk, homemade laddoo and other recopies you like.


Nutritional Value Of Flax Seeds || Flaxseed Nutrition


Alsi ke BeejAlsi Ke Beej Capsule Online

If you consume 10 gms of Flax Seeds then you will get 55 calories, 4.4 gms of fat, 3 gms of fiber, and 2 gms of proteins. So this is why flaxseed is a good source of healthy fat, fiber, and protein.

If you consume one tablespoon of ground or powder flax seeds then you will get 37 calories, 2g carbs, 1.9g fiber, 1.5g protein, and 3g fat.


How To Consume Flax Seeds Or Alsi Seeds?


(1). Always consume them in roasted form as phytic acid is heat sensitive and it will have negligible effect. If you have prepared the flaxseed powder then make sure you use it in 10-15 days. Store in the fridge.

(2). If you are a beginner then you should start taking flax seeds half a tablespoon. After some time gradually increase the amount and take it up to one to two tablespoons daily. Don’t cross this limit.

(3). Another form of consuming it is in the form of sprout. Sprouted flax seeds also have great health benefits.

(4). It is better to consume flaxseed meal in the winter season as it is warm and dry by nature. But if you still want to consume it in summer then take the half amount of winter season.


How Should You Not Consume Flax Seeds


Never consume it with water. However, you should start consuming more water after you start adding flax seeds in your diet as flax seeds start soaking body water inside and will start constipation. So make sure, you add more water to your daily life.

Never consume it like a namkeen type thing as whole food. Because it will not digest and will come out without being absorbed. So this will be a complete waste.


Side Effects of FlaxSeeds or Alsi ke Beej


(1). Avoid consuming it during pregnancy.

(2). Avoid during heavy periods (heavy bleeding).

(3). Stop consuming flax seeds if you see allergies like wheezing, swelling, rashes, and mouth ulcer.

(4). In excessive amount, it can lead to problems like bloating, gas, cramp and abdominal pain.

(5). If you are consuming blood-thinning medicines like aspirin and warfarin, never take flax seeds.

(6). If you are on some other type of medication then do consult your doctors before starting consuming it.

(7). If you use flaxseed oil in your diet then always make sure that you never heat the oil because it will change its fat structure and it becomes toxic for you.


हिंदी मेें पढ़ें  || Flax Seeds in Hindi || Alsi ke Beej


आज हम फ्लैक्स सीड्स के बारे में बात करेंगे। हम इसे हिंदी में अलसी कहते हैं। हालाँकि, अन्य नाम भी हैं जैसे तिस्सी, विरई और अलसी। Alsi ke Beej के क्या लाभ हैं? क्या हमें इसे अपने आहार में शामिल करना चाहिए? flaxseeds मांसपेशियों के निर्माण और हार्मोनल असंतुलन में कैसे मदद करते हैं? फ्लैक्स सीड कैसे वसा हानि और वजन घटाने weight loss में मदद करता है? क्या Alsi ke Beej हमारी सामान्य जीवन शैली में मदद करता है? हमें अपने आहार और दैनिक दिनचर्या में कितनी मात्रा में फ्लैक्स सीड को शामिल करना चाहिए? इन सभी सवालों के जवाब आज हम आपको देने जा रहे हैं।

भारत में फ्लैक्स सीड or alsi ke beej का उपयोग काफी मात्रा में किया जाता है। आपने इस पर ध्यान नहीं दिया होगा, लेकिन वास्तव में, आप बाजार में लगभग हर उत्पाद में flaxseeds or alsi ke beej पा सकते हैं।

उदाहरण के लिए, ब्रेड, कुकीज, बिस्कुट और बार में भी फ्लैक्स सीड्स होते हैं। यही कारण है कि विभिन्न प्रसिद्ध ब्रांड ओमेगा 3 से समृद्ध भोजन, हृदय-स्वस्थ भोजन, त्वचा के लिए सबसे अच्छा भोजन लिखते हैं। और आपने इस तथ्य पर पहले गौर किया होगा।

हालांकि, ये ब्रांड बहुत कम मात्रा में alsi ke beej जोड़ते हैं और फिर आपको flaxseeds के लाभ और स्वास्थ्य लाभ बताते हैं। खैर, ये सभी ब्रांड अपने उत्पाद विपणन के लिए ऐसा करते हैं। और यह राजस्व पैदा करने में ब्रांडों की मदद करता है

क्योंकि लोग सिर्फ उत्पाद के लेबल को पढ़ते हैं और वे देखते हैं कि यह दिल के लिए स्वस्थ है आदि। हालांकि वे उत्पादों के अन्य हानिकारक तत्वों से परिचित नहीं हैं। एक ग्राहक को लगता है कि यह ब्रांड टीवी विज्ञापनों में दिखाया गया है इसलिए यह एक वास्तविक उत्पाद है।

इस लेख में, हम चर्चा करेंगे कि कैसे हम अपने आहार में फ्लैक्स सीड को शामिल कर सकते हैं और सभी स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकते हैं। हम एक स्वस्थ शैली में Alsi ke Beej का उपयोग करेंगे और पारंपरिक अस्वास्थ्यकर भारतीय तरीके से बचेंगे।


फ्लैक्स सीड क्या है || Flaxseed Kya Hai?


alsi beej पौधे आधारित भोजन है। यह सौ प्रतिशत शाकाहारी भोजन है। प्रकृति द्वारा ओमेगा 3 में फ्लैक्स सीड उच्च है। Flaxseed शाकाहारी लोगों के लिए ओमेगा 3 का एक वैकल्पिक स्रोत है क्योंकि वे मछली और अन्य सामान नहीं ले सकते हैं।

चिया सीड की तुलना में फ्लैक्स सीड आकार में बड़ा होता है। स्वाद बढ़िया है। भारतीय घर और संस्कृति में, Alsi ke Beej का उपयोग एक विस्तृत श्रृंखला में किया जाता है। हम इसे अलसी की मधुमक्खी कहते हैं और इसका उपयोग लड्डू और अन्य सर्दियों के घरेलू उत्पादों में किया जाता है।


फ्लैक्स सीड्स के आयुर्वेदिक गुण


गुणवत्ता- भारी, चिपचिपा और पतला

प्रकृति- गर्म

स्वाद- कटु, पाचन के बाद तीखा

दोसा- संतुलन वात, वात बढ़ाता है और पित्त को बेअसर करता है


क्या थायरॉयड से पीड़ित लोग अपने आहार में alsi seeds ले सकते हैं?


फ्लैक्स सीड्स में गोइट्रोजेन नामक पौधे के यौगिक होते हैं।

इसे क्यों टाला जाना चाहिए और कैसे लेना चाहिए। थायरॉइड के मरीजों के लिए दो प्रमुख चीजें फ्लैक्स सीड्स को खराब बनाती हैं।

इसमें फाइटिक एसिड होता है जो बाहरी परत में एंटी-पोषक तत्व होता है और लोहा, जस्ता, कैल्शियम, आयोडीन, तांबा, आदि जैसे पोषक तत्वों के अवशोषण को प्रतिबंधित करता है।
इसमें सायनोजेनिक ग्लाइकोसाइड होता है जो शरीर में सल्फर यौगिकों के साथ मिलकर थायोसाइनेट बनाता है जो थायरॉयड ग्रंथि के कामकाज को प्रभावित कर सकता है।

समाधान-

थायराइड के लोगों को कभी भी अलसी का कच्चा रूप नहीं लेना चाहिए। इनका सेवन करने से पहले हमेशा भुने। फाइटिक एसिड गर्मी के प्रति संवेदनशील है और इसका प्रभाव रोस्टिंग प्रक्रिया में बेअसर है।

इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि थायरॉइड वाले लोग अधिक मात्रा में अलसी का सेवन न करें। आप अपने आहार विशेषज्ञ और डॉक्टरों द्वारा निर्धारित थोड़ी मात्रा में इसका सेवन कर सकते हैं।


Alsi ke Bij और हार्मोनल असंतुलन

हार्मोनल संतुलन के लिए, मासिक धर्म चक्र कूपिक चरण (बीज चक्र) के पहले चरण में इसका सेवन करें।

क्यों Alsi ke Beej आपके शरीर के लिए महत्वपूर्ण है?


फ्लेक्स सीड्स के फायदे || Alsi ke Bij Ka Fayda


कुछ Alsi ke Beej के उपयोग हैं जो स्वस्थ जीवन के लिए फायदेमंद हैं।

(1). फाइबर का समृद्ध स्रोत

alsi seeds फाइबर सामग्री में उच्च है। 60 से 80% घुलनशील फाइबर सामग्री है और 20-40% अघुलनशील फाइबर है। उच्च फाइबर का मतलब शरीर में कब्ज की समस्या नहीं है।

यह भोजन को ठीक से पचाने में मदद करता है। मांसपेशियों के निर्माण, वजन घटाने और वसा हानि कार्यक्रमों के लिए पाचन महत्वपूर्ण बिंदु है।

फाइबर कसरत के दौरान आपके पेट को भरा रखता है और उस समय भूख को रोकता है। और यह चीज अधिक खाने और भूख को रोकने में मदद करती है। यह आपको वजन घटाने के उद्देश्यों के लिए Alsi ke Beej का उपयोग करता है।

(2). Fibre मदद करता है – 

  • अच्छा आंत बैक्टीरिया का समर्थन करें
  • भूख मिटाता है
  • रेचक गुण (चिपचिपा हो जाता है और जेल का रूप लेता है)
  • कब्ज को रोकता है और पाचन में सुधार करता है
  • ब्लड शुगर को कम करता है
  • वजन घटाने में मदद करता है

(3). अलसी विटामिन से भरपूर भोजन

फ्लैक्स सीड उन लोगों के लिए वरदान है जो रक्तचाप और किडनी के स्वास्थ्य के मुद्दों से पीड़ित हैं। फ्लैक्स सीड्स विटामिन (विटामिन बी 1 थायमिन) और खनिज (तांबा, मैग्नीशियम, फास्फोरस, कैल्शियम, लोहा, एंटीऑक्सिडेंट फ्लोरिक एसिड, पी-कोर्टमोरिक एसिड, फाइटोस्टेरोल, लिग्नान, आदि) में भी उच्च हैं।

(4). फ्लैक्ससीड प्रोटीन का अच्छा स्रोत

alsi seeds गुणवत्ता वाले प्रोटीन (अलसी प्रोटीन) का एक अच्छा स्रोत है और इसलिए उच्च प्रोटीन है। इसमें ग्लूटामाइन और आर्जिनिन जैसे अमीनो एसिड होते हैं। ये दोनों आपके दिल के स्वास्थ्य और अच्छी प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए अच्छे हैं।

(5). अस्थमा और गठिया के लिए बून

अलसी के बीज अस्थमा और गठिया के लक्षणों को कम करने में मदद करते हैं। यह आपको स्वस्थ हड्डियों को प्राप्त करने में मदद करता है।


(6). गर्भावस्था के बाद में मदद करता है

यह रजोनिवृत्ति के लक्षणों को भी कम करता है। अगर गर्भावस्था के बाद का सेवन किया जाए तो यह स्तन के दूध को बढ़ाता है। (मेथी के बीज, Alsi ke Beej, और जीरा पाउडर का मिश्रण)

(7). Alsi seeds में कुछ कैंसर से लड़ने वाले गुण भी होते हैं।

(8). नहीं जोड़ा गया चीनी: मधुमेह के लोगों के लिए अच्छा है

सन के बीज में शक्कर होती है। इसमें बिल्कुल भी शुगर नहीं है इसलिए डायबिटीज का खतरा नहीं है। मधुमेह के लोग इसे बिना किसी परेशानी के ले सकते हैं। यह इंसुलिन स्पाइक को जन्म नहीं देगा।

मधुमेह में दवा एक अस्थायी समाधान है लेकिन वर्कआउट और उचित भोजन स्थायी समाधान हैं।


(9). लिग्नांस का समृद्ध स्रोत

फ्लैक्स सीड्स लिग्नन्स का एक समृद्ध स्रोत हैं। लिग्निन एक एंटीऑक्सिडेंट और फाइटोएस्ट्रोजन है जो महिला हार्मोन एस्ट्रोजन के समान है।

यदि महिलाएं अपने मासिक धर्म के पहले छमाही में Alsi बीज खाती हैं तो flaxseeds उस मामले में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। flaxseeds महिलाओं में एस्ट्रोजन स्तर को नियंत्रित करता है।

यदि कोई कमी है तो यह इसे बढ़ावा देगा और यदि अत्यधिक एस्ट्रोजन है तो इसे कम कर देगा।

हां, फ्लैक्स सीड बहुत कम महंगा है लेकिन यह स्वास्थ्य लाभ के लिए एक बढ़िया उपाय है।

(10). अलसी का तेल ओमेगा 3 6 9 समृद्ध स्रोत

फ्लैक्स सीड को पौधे-आधारित ओमेगा 3 वसा से समृद्ध किया जाता है जो स्वस्थ हृदय और मस्तिष्क के कामकाज (तंत्रिका तंत्र) के लिए आवश्यक है।

इसके अलावा, फ्लैक्ससीड स्वस्थ त्वचा (त्वचा के लिए Alsi ke Beej) और आकर्षक और स्वस्थ बालों के लिए भी अच्छा है। यहां तक ​​कि आप बालों के लिए अलसी के तेल का उपयोग कर सकते हैं।


(11). खराब कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए अच्छा है

अलसी के बीज में ALA (अल्फा-लिनोलेनिक एसिड) होता है जो सूजन और खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए जिम्मेदार होता है।

(12). किसी भी स्ट्रोक से दिल को सुरक्षित रखें

यदि आप एक मछली के तेल का कैप्सूल लेते हैं, तो आपको 1 ग्राम ओमेगा 3 मिलता है लेकिन यदि आप एक चम्मच पिसे हुए बीजों को मिलाते हैं तो आपको प्राकृतिक रूप से ओमेगा 3 की 1.5 ग्राम मात्रा मिलती है।

और यही कारण है कि आपको किसी भी ओमेगा 3 की खुराक में निवेश नहीं करना पड़ता है क्योंकि आपके पास एक प्राकृतिक भोजन है जो पूरक आहार से कहीं बेहतर है।

हम पहले से ही जानते हैं कि ओमेगा 3 खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है। इसलिए अपने आहार में फ्लैक्स सीड्स शामिल करने से आपके दिल को आगामी स्वास्थ्य खतरों जैसे स्ट्रोक और अन्य चीजों से बचाया जा सकता है।


(13). एंटीऑक्सीडेंट गुण

इसके अलावा, alsi seeds में एंटीऑक्सिडेंट और विरोधी भड़काऊ गुण भी होते हैं। Flaxseed उन सभी व्यक्तियों के लिए एक दवा है जो हृदय रोगों से पीड़ित हैं।

(14). अलसी से भरे एक या दो चम्मच काम करेंगे और आपको भविष्य में अपने दिल को स्वस्थ रखने के लिए किसी दवा की आवश्यकता नहीं होगी।


स्वस्थ जीवन शैली Healthy Lifestyle कुंजी है!


हालाँकि, हम यह नहीं कह रहे हैं कि आपको डॉक्टरों द्वारा बताई गई दवा नहीं लेनी है। आपको केवल तभी दवाइयां लेनी होंगी जब कोई गंभीर इमरजेंसी हो और यह एकमात्र ऐसा समय होता है जब डॉक्टर अन्य एलोपैथिक दवाओं को लिखते हैं।

दवाएं कभी-कभी ही काम करती हैं और भोजन एक आजीवन समाधान है। जब आप दवाएं लेना बंद कर देते हैं, तो आप फिर से दिल के स्वास्थ्य की गंभीर स्थिति प्राप्त कर सकते हैं।

इसलिए किसी भी आगे की जटिलताओं से बचने और स्वस्थ हृदय के लिए प्राकृतिक भोजन के पूरक को जोड़ना शुरू करना बेहतर है।

तो, सभी में, हम यह कह सकते हैं कि दवाएं एक अस्थायी राहत हैं, स्थायी नहीं। तो स्थायी समाधान क्या है?

आपको अपनी जीवनशैली और खान-पान को बदलना होगा। बस अपने शरीर की तुलना कार से करें। यदि आप इसे समय पर सेवा नहीं देते हैं, और तेल का कोई परिवर्तन नहीं होता है, तो इसे समस्याएं मिलेंगी और यही बात मानव शरीर के साथ भी होती है।

आप अपने शरीर का उपयोग कर रहे हैं, लेकिन आप वास्तव में इसके बारे में ज्यादा देखभाल नहीं कर रहे हैं और यह वास्तव में लंबे समय में दर्द होता है।

आजकल 40 वर्ष की आयु के लोग कहते हैं कि वे बूढ़े हो गए हैं। हालांकि, वे अपनी जीवन शैली और भोजन की आदतों को दोष नहीं देते हैं। जब तक आप अंदर से स्वस्थ हैं आप हमेशा युवा हैं।

आपको अपने आहार में फ्लैक्स सीड को कैसे लेना चाहिए?

आप ओटमील, स्मूदीज़, केला शेक, प्रोटीन शेक, सीरियल्स, प्रोटीन बार, कुकीज, दही, मट्ठा, दूध, घर के बने लड्डू और अन्य रिकॉपियों को अपनी पसंद के अनुसार बना सकते हैं।


Alsi ke Beej का पोषण मूल्य || अलसी का Nutritional Value


अगर आप 10 ग्राम फ्लैक्स सीड्स का सेवन करते हैं तो आपको 55 कैलोरी, 4.4 ग्राम वसा, 3 ग्राम फाइबर और 2 ग्राम प्रोटीन मिलेगा। तो यही कारण है कि अलसी स्वस्थ वसा, फाइबर और प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है।

यदि आप एक चम्मच जमीन या पाउडर Alsi ke Beej का सेवन करते हैं तो आपको 37 कैलोरी, 2 जी कार्ब, 1.9 ग्राम फाइबर, 1.5 ग्राम प्रोटीन और 3 जी फैट मिलेगा।


Flaxseeds या अलसी के बीज का सेवन कैसे करें?


(1). हमेशा भुने हुए रूप में इनका सेवन करें क्योंकि फाइटिक एसिड गर्मी के प्रति संवेदनशील होता है और इसका नगण्य प्रभाव होगा। यदि आपने अलसी के पाउडर को तैयार किया है, तो सुनिश्चित करें कि आप 10-15 दिनों में इसका उपयोग करें। फ्रिज में स्टोर करें।

(2). यदि आप एक शुरुआती हैं तो आपको फ्लैक्स सीड्स आधा बड़ा चम्मच लेना शुरू कर देना चाहिए। कुछ समय बाद धीरे-धीरे मात्रा बढ़ाएं और इसे रोजाना एक से दो बड़े चम्मच तक लें। यह सीमा पार न करें।

(3). इसका सेवन करने का एक और रूप स्प्राउट के रूप में है। अंकुरित फ्लैक्स सीड्स के बहुत स्वास्थ्य लाभ भी हैं।

(4). सर्दियों के मौसम में अलसी का सेवन करना बेहतर होता है क्योंकि यह स्वभाव से गर्म और शुष्क होती है। लेकिन अगर आप अभी भी गर्मियों में इसका सेवन करना चाहते हैं तो सर्दियों के मौसम की आधी मात्रा का सेवन करें।


आपको फ्लैक्स सीड्स का सेवन कैसे नहीं करना चाहिए


पानी के साथ इसका सेवन कभी न करें। हालाँकि, आपको अपने आहार में फ्लैक्स सीड्स को शामिल करने के बाद अधिक पानी का सेवन करना शुरू कर देना चाहिए क्योंकि फ्लैक्स सीड्स शरीर के पानी को अंदर तक भिगोना शुरू कर देते हैं और कब्ज हो जाएगा। तो सुनिश्चित करें, आप अपने दैनिक जीवन में अधिक पानी जोड़ें।

पूरे भोजन के रूप में इसे कभी भी नमकीन प्रकार की चीज़ की तरह न लें। क्योंकि यह पच नहीं पाएगा और अवशोषित होने के बिना बाहर आ जाएगा। तो यह पूरी तरह से बेकार हो जाएगा।


FlaxSeeds या Alsi ke Beej के साइड इफेक्ट्स


(1). गर्भावस्था के दौरान इसका सेवन करने से बचें।

(2). भारी समय (भारी रक्तस्राव) के दौरान से बचें।

(3). अगर आपको घरघराहट, सूजन, चकत्ते और मुंह के छाले जैसी एलर्जी दिखाई दे तो फ्लैक्स सीड्स का सेवन बंद कर दें।

(4). अधिक मात्रा में, यह सूजन, गैस, ऐंठन और पेट दर्द जैसी समस्याओं को जन्म दे सकता है।

(5). यदि आप एस्पिरिन और वार्फरिन जैसी रक्त-पतला दवाओं का सेवन कर रहे हैं, तो कभी भी फ्लैक्स सीड्स न लें।

(6). यदि आप किसी अन्य प्रकार की दवा पर हैं तो इसका सेवन शुरू करने से पहले अपने डॉक्टरों से परामर्श करें।

(7). यदि आप अपने आहार में अलसी के तेल का उपयोग करते हैं तो हमेशा सुनिश्चित करें कि आप तेल को कभी गर्म न करें क्योंकि यह इसकी वसा संरचना को बदल देगा और यह आपके लिए विषाक्त हो जाएगा।

Please follow and like us:
0
20
Pin Share20

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *