मेक्सिको का टिलटैपैक गाँव किस अजीबोगरीब घटना के लिए प्रसिद्ध हैं? Maxico Tiltapak Village Kyo famous hai?

Please follow and like us:
0
20
Pin Share20

मेक्सिको का टिलटैपैक गाँव किस अजीबोगरीब घटना के लिए प्रसिद्ध हैं? Maxico Tiltapak Village Kyo famous hai?

Maxico Tiltapak Village Kyo famous hai – दोस्‍तों आप लोगों को यह जानकर वाकई में हैरानी होगी कि इस गांव के सभी लोग अंधे हैं यहां तक इस गांव के जानवर भी अंधे हैं। पर ऐसा भला आखिर है क्‍यों? 

आज हम बात करेंगे कि इस गांव के लोगों के अंधेपन की वजह क्या है? तो आइए इस गांव के विषय में विस्तार से जानकारी लेते हैं।

क्यों खास है टिल्टेपक गांव? 

मेक्सिको देश में बसा है यह गांव, यह गांव काफी छोटा है इस गांव में केवल 70 झोपड़ी है जिसमें कुल मिलाकर 300 के आसपास लोग रहा करते हैं इस गांव में जोपोटेक नाम की जनजाति रहती है।

टिल्टेपक गाँव के सभी लोग अंधे हैं यहां तक कि जीव- जंतु पशु -पक्षी भी अंधे हैं ।ऐसा नहीं है कि यह सभी लोग जन्मजात अंधे होते हैं जब यहां के बच्चे का जन्म होता है तब बच्चा कुछ दिनों तक सामान्य रहता है फिर उसकी आंखों की रोशनी चली जाती है।

यहां के पक्षी भी अंधे हैं जिसकी वजह से वह उड़ नहीं पाते अगर कोई पक्षी उड़ने का प्रयास भी करता है तो वह पेड़ों से टकरा जाता है और उसकी मौत हो जाती है।

गांव के किसी भी झोपड़ी में खिड़की नहीं है क्योंकि उन्हें उजाले से कोई मतलब नहीं है सभी लोग लाठियों के सहारे अपना सभी काम करते हैं


Modern Design Wall Lamp Wall Light Suitable for Living Room,Foyer,Bedroom,Hallway
Modern Design Wall Lamp Wall Light Suitable for Living Room,Foyer,Bedroom,Hallway 

क्या श्रापित पेड़ की वजह से इस गांव के लोग अंधे हैं?

गांव के लोगों के अनुसार उनके अंधेपन की वजह एक श्रापित पेड़ है उसे देखने के बाद लोगों की आंखें चली जाती है हालांकि इस बात को वैज्ञानिकों ने सिरे से नकार दिया वैज्ञानिकों ने गांव के लोगों को अंधेपन की कुछ अलग वजह बताई।


तो क्या है गांव के लोगों की अंधेपन की असली वजह?

वैज्ञानिकों ने अपने शोध में पाया कि क्या गांव के लोगों के अंधेपन की वजह कोई श्रापित पेड़ नहीं है, बल्कि एक मक्खी है।

जी हां, आपने बिल्कुल सही पढ़ा गांव के आस पास पाए जाने वाली जहरीली मक्खी के काटने से वहां के लोग अंधे हो जाते हैं।

जिस मक्खी का जहर आंखों के द्वारा दिमाग को भेजे गए सिग्नल को रोक देता है जिससे व्यक्ति देख नहीं पाता है।

यही वजह है कि गांव के नए जन्मजात बच्चे देख पाते हैं और कुछ ही दिनों बाद उन्हें वह मक्खी काटने की वजह से उनकी दृष्टि चली जाती है।

अगर आपको यह जानकारी पसंद आई हो और इसके बारे में जो भी राय हो उसे नीचे दिये गये कॉमेण्ट सेक्शन में अवश्य लिखें।

साथ हमारे फेसबुक पेज को लाइक कॉमेण्ट और सब्सक्राइब व शेयर करना ना भूलें। इस पोस्ट‍ को ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर अवश्य‍ करें। धन्यवाद।


Also Read – पढ़ें और भी रोच‍क कहानियां

Also Readमनोरंजन की बेहतरीन खबरें

Please follow and like us:
0
20
Pin Share20

Add a Comment

Your email address will not be published.