Periods Mahila Mandir Rules : महिलाओं को पीरियड्स में मंदिर क्यों नहीं जाना चाहिए?

Please follow and like us:
0
20
Pin Share20

महिलाओं को पीरियड्स में मंदिर क्यों नहीं जाना चाहिए? Periods Mahila Mandir Rules

Periods Mahila Mandir Rules: कहते हैं कि बच्चे भगवान की देन होते हैं. और ये तभी होते हैं जब महिलाओं को पीरियड्स होते हैं. इस तर्क से तो पीरियड्स भी भगवान की ही देन हुए।

Periods Mahila Mandir Rules
Periods Mahila Mandir Rules

यदि एक स्त्री माहवारी के दिनों में मंदिर जाती है या पूजा पाठ करती है तो उसे भविष्य में किन समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है?

सोशल मीडिया पर जब यही सवाल हमने आम लोगों से किया, तो कई तरह के जवाब आए. अधिकतर लोगों का कहना था कि महीने में चार-पांच दिनों के लिए लड़कियां “अपवित्र” हो जाती हैं.

Periods Mahila Mandir Rules
Periods Mahila Mandir Rules

ऐसे में उन्हें मंदिर नहीं जाना चाहिए. कइयों ने तो रसोई में जाने पर भी आपत्ति जताई. बहुत से लोगों ने यह भी कहा कि अगर बड़े बुजुर्ग कोई नियम बना गए हैं, तो किसी वजह से ही बनाया होगा.

जिस जमाने में ऐसे नियम बने होंगे कि औरत जमीन पर सोए, अलग कमरे में रहे, किसी भी “पवित्र” चीज को ना छुए, एक बार उस जमाने की तस्वीर उकेरने की कोशिश करते हैं.

Periods Mahila Mandir Rules

सोचिए आप एक ऐसे वक्त में रह रहे हों, जब ना बिजली हो, ना साफ सफाई की कोई सुविधा. नहाने के लिए नदी-तालाब में जाना पड़ता हो और शैंपू-साबुन को तो बिलकुल भूल ही जाइए. सैनिटरी पैड्स की भी तब तक खोज नहीं हुई थी.

ऐसे दौर में जीने के लिए आपको साफ सफाई से जुड़े कुछ नियम बनाने होंगे. कोई नहीं चाहेगा कि तालाब का पानी गंदा हो जाए.

Periods Mahila Mandir Rules
Periods Mahila Mandir Rules

और अगर आप यह बात समझते हों कि इस दौरान महिला को आराम की जरूरत है, तो आप उसे कमरे में रह कर आराम करने की भी हिदायत देंगे.

अब लौटते हैं आज के जमाने में जहां आपके पास बाथरूम की भी सुविधा है और सैनिटरी पैड्स की भी. हाथ धोने के लिए साबुन भी है और सैनिटाइजर भी.

Periods Mahila Mandir Rules

तो इस दौर में क्या साफ सफाई के वही नियम लागू होते हैं, जिनकी तब जरूरत थी? जरूरत है तो सैनिटरी पैड्स को ले कर जागरूकता फैलाने की.

सरकारी अस्पतालों में कंडोम और गर्भ निरोधक गोलियां मुफ्त में मिलती हैं. ऐसा ही सैनिटरी पैड्स के साथ भी करने की जरूरत है, ताकि कोई भी लड़की या महिला “अपवित्र” ना रह जाए.

Periods Mahila Mandir Rules
Periods Mahila Mandir Rules

लड़कियों को मंदिरों में आने से रोकने की जगह अगर यहां उन्हें सैनिटरी पैड्स बांटे जाएं तो शायद मंदिरों में उनकी आस्था और भी बढ़ जाएगी.

इस सुझाव पर बहुत लोगों को आपत्ति हो सकती है लेकिन कहते हैं कि परिवर्तन ही स्थायी है. इसलिए बदलते वक्त के साथ खुद को और समाज के नियमों को बदलने में ही समझदारी होती है.

Periods Mahila Mandir Rules

और तब शायद हर मां अपनी बेटी से कह सके, “तारीख याद रखना और मंदिर जरूर जाना.”

आपकी इस जानकारी के बारे में जो भी राय हो उसे नीचे दिये गये कॉमेण्ट सेक्शन में अवश्य लिखें। साथ हमारे फेसबुक पेज को लाइक कॉमेण्ट और सब्सक्राइब व शेयर करना ना भूलें। इस पोस्ट‍ को ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर अवश्य‍ करें। धन्यवाद।


Also Read – पढ़ें और भी रोच‍क कहानियां

Also Readमनोरंजन की बेहतरीन खबरें

Please follow and like us:
0
20
Pin Share20

Add a Comment

Your email address will not be published.